6 तरीके आपके घर को ठंडा बनाने के लिए | homify | homify
Error: Cannot find module './CookieBanner' at eval (webpack:///./app/assets/javascripts/webpack/react-components_lazy_^\.\/.*$_namespace_object?:2982:12) at at process._tickCallback (internal/process/next_tick.js:189:7) at Function.Module.runMain (module.js:696:11) at startup (bootstrap_node.js:204:16) at bootstrap_node.js:625:3

Request quote

Invalid number. Please check the country code, prefix and phone number
By clicking 'Send' I confirm I have read the Privacy Policy & agree that my foregoing information will be processed to answer my request.
Note: You can revoke your consent by emailing privacy@homify.com with effect for the future.

6 तरीके आपके घर को ठंडा बनाने के लिए

HOMIFY001 HOMIFY001
Modern living room by Muraliarchitects Modern
Loading admin actions …

हम सब एक शांत, सुखदायक और आराम दायक घर की इच्छा करते है। कोई भी हवा और रोशनदान का स्रोत ना होने के साथ  गर्म और आर्द्र घर में बैठना पसंद नहीं करता है। जबकि दीप्तिमान घर के लिए,सूरज की रोशनी और चमक की जरूरत है।हम घर को कई तरीकों से हवादार और रोशनीमय बना सकते हैं।जिससे कि हम भारतीय की बिजली ,पानी की मूलभूत परेशानी से निजात मिल सकती है और ज्यादा से ज्यादा प्रकृति के सम्पर्क में रह सकते हैं।हवादार और रोशनमय घर पर्यावरण प्रदूषण एवं भूमण्डलीय वृध्दि  की ओर इंगित करते हैं।इसलिए हमको चाहिए कि पर्यावरण हेतु जागरूक एवं चिंतित होना आवश्यक है।पर्यावरण के प्रति जागरूक होकर ही घरका चुनाव करना चाहिए।पर्यावरण प्रदूषण से मुक्त घर को बनाने में लागत भी बहुत कम लगती है।यहाँ हम पर्यावरण प्रदूषण से मुक्त कुछ नु्स्खे दे रहे हैं जो आपको अच्छे लगेंगे ।

1. आकाशीय प्रकाश

इस बैठक कक्ष में  छत से आता भरपूर नैसर्गिक प्रकाश अनैसर्गिक प्रकाश की आवश्यकता को कम कर रहा है, साथ ही ऊर्जा के उपभोग में भी कटौती करता है। आकशीय प्रकाश के साथ सूर्य की चमक और गरमाहट पूरे घर को आलोकित कर रही है।सूर्य के प्रकाश में प्रत्येक वस्तु स्वपनिल चमक के साथ दमक रही है।रात्रि में तारों से भरा आकाश टकटकी बाँध कर देखने और चन्द्रमा की रोशनी में नृत्य करने को बाध्य करती है।इस प्रकार के घर हमें प्रकृति के और करीब लाते हैं।सामने खुले काँच के दरवाजे खुली हवा को निमन्त्रण दे रहे हैं।प्रकृति की हरियाली  में आत्मिक आनंद की अनुभूति ही अलग है। इस तरह दिल और दिमाग दोनो ताजा रहते हैं।साथ रखा संगीत उपकरण  जिसे प्यानों कहते हैं मानो प्रकृति के साथ ठुमकने को तैयार है।

2. सरलीकृत शयन कक्ष

The Running Wall Residence Houses by LIJO.RENY.architects
LIJO.RENY.architects

The Running Wall Residence

LIJO.RENY.architects

इस शयन कक्ष में देखें यह अत्यधिक गर्मी में भी ठंडक का एहसास होता हैजिससे बिजली के बिल में भी कटौती संभव है जिसका सबसे बडा कारण है छत की ऊँचाई ,सफेद रंग की दीवारें,भरपूर नैसर्गिक प्रकाश। बडी खिडकी से आता प्रकाश और हवा  पूरे कक्ष को ठंडा रखने में पूर्ण सहायक है। खिडकी पर लगे सरकने वाले काँच से पूरा आकाश भी दृष्टिगोचर हो रहा है।हवा के आवागन से कक्ष में ठंडक बनी रहती है।पर्यावरण का पूरा ध्यान रखा गया है। रात्रि को चाँदनी का प्रकाश कक्ष में अपनी छटा बिखेरता है जिससे कक्ष ठंडा रहता है।कक्ष में आता प्रकाश कक्ष को दमकाता है।

3. हवादार भोजन कक्ष

भोजन कक्ष के पर्यावरण पर दृष्टि डालिये कितना हवादार और प्रकाश से परिपूर्ण है। पूरी बडी खिडकी से झाँकता सूर्य का प्रकाश कक्ष की सुन्दरता में वृध्दि कर रहा है।  बडी काँच की खिडकी पर सरकने वाला काँच भरपूर हवा का आनंद प्रदान कराता है साथ ही प्रकाश से सरबोर हो रहा है साथ ही प्राकृतिक सौन्दर्य का नयनाभिराम दृश्य का आनंद ले सकते हैं।बाहर पेड पौधो का स्पर्श कर के आने वाली ठंडी हवा से व  उनकी छाया से घर में शीतलता रहती है। कक्ष में पडने वाली रोशनी कक्ष को सुन्दर रूप दे रही है।मेज पर रखे  सफेद फूल शीतलवर्धक हैं,इनकी भीनी-भीनी महक कक्ष की हवा को और भी तरोताजा कर रही है। जिससे कक्ष वातानुकूलित रहता है। तेज गर्मी में हरे पेड पौधौ का नयनसुख तन मन को शीतलता प्रदान करता  है। लकडी की मेज पर भोजन प्रकृति के और समीप  ले जाता है।हवा और प्रकाश से परिपूर्ण कक्ष स्वत: ही पर्यावरण प्रदूषण से मुक्त रहता है।कक्ष में भी प्राकृतिक सौन्दर्य प्रचुर मात्रा में है। काँच बंद होने के  पश्चात् छत पर लगी चादर और काँच के दरवाजों के मध्य बने रोशनदान से हवा का आवागन होता रहता है जिससे कक्ष का वातावरण स्वस्थ एवं शीतल बना रहता है।जब चाहें तब कक्ष के बाहर भ्रमणानन्द के साथ साथ सेहत का लुत्फ भी ले सकते है।

4. मॉड्यूलर रसोई क्षेत्र

रसोई कक्ष मे  नैसर्गिक प्रकाश रसोई कक्ष मे  नैसर्गिक प्रकाश के लिये लम्बी काँच की सरकने वाली खिडकी बनाई गई है,जिससे सूर्य का प्रकाश पूरे रसोई क्षेत्र में फैला है।बाह्य वातारण में बागीचा दृष्टिगत हो रहा है।आप देख सकते हैं कि छत पर काँच के बने रोशनदान से दोहरा लाभ प्राप्त होता है, सूर्य की ऊर्जा अधिक से अधिक रसोई कक्ष में प्रवेश करती है तथा जब उमस हो तो काँच की सरकाई जा सकती है और रोशनदान को खोला जा सकता है जिससे वायु का बहुत अच्छा आवाह-प्रवाह होता है यहाँ ऊर्जा व प्रकाश और वायु का सु्न्दर समायोजन किया गया है। रसोई में प्रकाश और वायु का होना अत्यन्त आवश्यक है क्यों कि यहाँ से ही सेहत का कखग प्रारम्भ होता है। यहा का वातावरण शांत एवं जलवायु में ठंडक होना अनिवार्य है।यहाँ स्वच्छता का अधिक ध्यान रखना पडता है। सूर्य का प्रकाश रसोई में पनपने वाले कीटाणुओं को समाप्त कर पर्याप्त ऊर्जा प्रदान करता है.। रसोई में धुएँ का कोई स्थान नहीं है। उसके लिए गैस चूल्हे के ठीक ऊपर चिमनी का उपयोग किया गया है।जिससे भोजन पकाते समय धुआँ चिमनी के मार्ग से घर के बाहर निकल जाये।  कक्ष में ऊर्जा ,वायु का समुचित प्रसार है।मॉड्यूलर रसोई डिजाइन ऊपर मेपल और ग्रे, ब्रिटेन से पेशेवरों द्वारा डिजाइन किया गया है

5. चौतरा

यह है चौतरा मतलब कमरे के आगे खुली छोटी छत जिसमें हवा और प्रकाश का भरपूर आनंद ले सकते हैं। इस खुली छत को देखिए यहाँ गमलों में लगे छोटे पेड़ प्राकृतिक वातावरण का भी लुत्फ दे रहे हैं।ऊपर खुला आकाश,पक्षियों की उड़ान एव उनका कलरव,प्रकृति का सामिप्य,रात्रि में चाँद तारों से वार्तालाप,सुबह सवेरे सूर्य भगवान से सुप्रभात करना स्वाभाविक है।छत पर सफेद रंग की कुर्सी मेज और मोज़ैक के फर्श पर आयताकार में पड़ता प्रकाश इस स्थान को खूबसूरती प्रदान कर रहा है।

6. खुला आँगन

जब मौसम खुशनुमा होता है तब खुले हवादार बरामदे में बैठने का लुत्फ ही कुछ और ही होता है।बरामदे में बैठ कर जो चाहे सो खाइये,पीजिये,अखबार पढिये या चिंता मुक्त हो कर आराम फरमाइये।बाहर खुला बरामदा  मनोरंजन के लिये एक उचित स्थान है।खुला बरामदा घर में बनाने से आप स्वयं  घर में बैठ कर बाहर के संसार को देखने का लाभ ले सकते है।यदि आपको बैठने की व्यवस्था करनी है तो खुली हवा में अवश्य करें।खुले बरामदे में पूरी ऊर्जा और हवा का भरपूर स्त्रोत उपलब्ध होता है।प्रकृति की गोद में बैठ कर फूलो की महक के बीच धूप छाँव का आनंद ले सकते हैं।प्रकृति की गोद में बैठ कर फूलो की महक के बीच धूप छाँव का आनंद ले सकते हैं।लकडी के फर्श के किनारे बनी रेलिंग के सहारे खडे हो कर सूर्य की ऊर्जा, खुला आकाश,पक्षियों के कलरव,पेड की पत्तियों की खडखडाहट, हवा में घुली फूलों की खुशबू में अपने आप को सराबोर पायेंगे।प्रकृति के मध्य मस्तिष्क में विचारों का आवागमन वास्तव मे वाजिब है। यहाँ आप को दिखाने के लिए एक और वास्तुकला है: एक रंगीन कांच और लकड़ी के घर

Modern houses by Casas inHAUS Modern

Need help with your home project?
Get in touch!

Discover home inspiration!